> नमाज़ नही पढ़ने बालो का क्या होगा - Online Hindi Advice
Islamic

नमाज़ नही पढ़ने बालो का क्या होगा

हज़रात नबीए करीम सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया ”मन,त-र-कस-सला-त-मु-त-अम्मिदन फ़क़द क-फ़-र”जिस शख्स ने एक वक़्त की नमाज़ जान.बुझ कर छोड़ दी बह कुफ्र की हद तक पहुंच जाएगा। हजरत इमाम शाफ़ई रह० के पास बह काशख्स फिर व काबिले क़त्ल है।

Image result for namaj

बे नमाज़ी का अज़ाब क्या होगा   

हुजूरे अनबर ने फ़रमाया। ”अस,-सलातु इमादूद, – दीनि फ़मन, अका -महा फ़क़द, अक़ामद -दी -न व मन त -र -कहा फ़क़द, ह -द मद, -दीन०”नमाज़ दीन   ख़म है। जिसे ने इसको क़ायम रखा दीन को क़ायम रखा जिसने इसको तर्क किया उसने दीन गिरा दिया।   हज़रत हुजूर अनबर सल्ल ल्लाहु अलैहि व सल्ल्म ने फ़रमाया सुकरात में ,कब्र में हसर में सबसे पहले नमाज़ का सबाल होगा क्या तूने नमाज पढ़ी ,या नही जो नमाज़ में सफ़ल हुआ तो उसको सब कुछ आसान होजाएगा। हज़रते हुजूरेअनबर ने  फ़रमाया। इस्लाम और कुफ़्र में सिर्फ नमाज ही का फर्क है। नमाज नहीं पढ़ने बाला काफिर के बराबर है हुजूरे अनबर सल्ल० ने फ़रमाया कल क़यामत में बे नमाज़ी सुअर से भी ज्यादा बहेतर होगा।बे नामजी की खैरात नज़र व नियाज भी जो नेक काम करेगा बह क़ाबिले कबूल नही। लोग बक्त पर नमाज़ नहीं पढ़ते या लोगो को देखाने के लिए पढ़ते है या कभी जुमा रमज़ान या ईद में पढ़ते है उनको अल्ल्हा तआला का दीदार महस्सार न होगा। जो मर्द या औरत नमाज़ नहीं पढ़ते उनकअल्लाह  तआला  पंद्रह अज़ाब में ग़िरफ़्तार करेगा 6 अज़ाब दोनिया में अव्वल ,उसकी उम्र से बरकत जाती रहेगी। दूसरा हक़ तआला उसके  सूअरत से सालिहो की निसान उठा देगा। तीसरा ,जो नेक आमाल करेगा उसका सवाब व अज न मिलेगा। चौथा ,उसकी दुआ आसमान पर न जायगी। पांचवा ,रहमत के फ़रिश्ते उससे नाराज रहेंगे छटा इस्लाम की ने आमतो व खूबियों से मरते वक्त कुछ हिस्सा नसीब न होगा  Related image

बे नमाज़ी पर क्या अज़ाब होगा

तीन अज़ाब मौत के करीब होगे। अव्वल ख्वार व ज़लील होकर मरेगा। दोसरा भूखा व मुफ़लिस होकर मरेगा। तीसरा प्यासा होकर मरेगा। तीन अज़ाब कब्र में होगे। अव्वल कब्र उसकी छोटी हुजायगी। दोनों पसलियों कीहड्डियों मिल जाएगी। दूसरा कब्र में उसकी आग रौशनी करेगी उस आग में जलता रहेगा। तीसरा हक़ तआला उस की कब्र में एक फ़रिश्ता अज़ाब करने का मुकर्रर करेगा जो उसको रात -दिन आग के ग़ुज़र से मारता रहेगा।बे नमाज़ी पर सख्त अज़ाब  होगा जो कब्र में होगे कब्र सुनसान होगी अगर बे नमाज़ी होगे तो डर  लगाए गा डर से सिर्फ नमाज़ ही बचा सकती है।

Image result for be namazi par kya azab hoga

कब्र से निकलकर  हिसाब की जगह जाते बक्त 

कब्र से बहार हिसाब की जगह तीन अज़ाब होगे। अव्वल हक  तआला उसके लिय एक फरिश्ता मुकर्रर करेगा। उसको कब्र से निकाल कर अंधे मुंह आग की ज़ंजीर गले में डाल कर खींचते हुए ले जागे। दूसरा हक़ तआला के सामने से दोज़ख में जायगा। हक तआला नज़रे रहमत से नहीं देखेगा। तीसरा बह पाक न होगा। सख्त अज़ाब महेसर होगा। जो जान बुजकर नमाज छोड़ेगा  उसे उसी बक्त दोज़ख के दरबाजे पर उसका नाम लिखा जाता है बह तौबा करके कज़ा पढ़ता है तो बह मिटा दिया जाता। बे नामजी को जगह मत दो। अपने पास न भी बैठओ  क्योकि बे नमाज़ी  खुदा व रसूले सल्लल्लाहु  अलहि व सल्लम का नाफ़रमान बन्दा है खुदा व रसूल     और फ़रिश्ता की लानत बरस्ती है कल क़ियामत में बेनमाज़ी का और कुत्ता सामने आए तो पहले कुत्ते को देखे बेनमाज़ी कुत्ते से भी बदतर है।

Related image

 

मै चाहता हु की ये मेरी  पोस्ट हर मुस्लमान भाई तक पहुंचे  अधिक से अधिकsheyar करे

 

 

 

 

 

 

 

Share Buttons
0Shares

About the author

Mohammad Rihan

Mohammad Rihan

Hello Friends My Name is Mohammed Rihan and I am the Founder of Online Hindi Advice knowledge in Hindi on This Blog for People. Here on this blog I write about Technology, Blogging, Make Money, Festival and Happy day

Leave a Comment